बंगाल के गवर्नर बोले, महाभारत में अर्जुन के तीरों मे परमाणु शक्ति थी

Arjun's arrows had nuclear power, said Governor

कोलकाता – पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को दावा किया कि, रामायण के काल मे उड़ने वाली वस्तुयें मौजूद दी। उन्होंने यह भी कहा कि महाभारत के अर्जुन के बाणों में परमाणु शक्ति थी। उनके इस बयान के बाद देशभर के वैज्ञानिकों ने नाराजी व्यक्त की।

धनकड़ यहां पे 45 वे ईस्टर्न इंडिया साइंस फेयर और 19 वे साइंस एंड इंजीनियरिंग फेयर में उद्धघाटन के लिए आये थे। उन्होंने कहा, “अगर हम अपने पुराने शास्त्रों को खंगाले तो पाएंगे कि विमान का अविष्कार 1910 में हुआ था। लेकिन यह सच नही है, रामायण के काल मे भी हमारे यहां उड़ती  तबकड़िया थी। सिर्फ यही नही, महाभारत काल मे भी संजय युद्धभूमि पर मौजूद नही थे, फिर भी उन्होंने युद्ध का सटीक वर्णन बताया था। वे वहां का दृश्य देख सकते थे। अर्जुन के बाणों में परमाणु शक्ति थी।”

महाभारत और भगवद्गीता के अनुसार संजय दूर के दृश्य अपनी आँखों से देख सकते थे, जिसका उपयोग करके उन्होंने अंधे राजा धृतराष्ट्र को युद्ध मे होने वाली घटनायें वर्णित की थी। उन्होंने कहा, “दुनिया अब भारत को नजरअंदाज नहीं कर सकती।”

देशभर के कई वैज्ञानिकों और विचारवंतो ने राज्यपाल के इस बयान की आलोचना करते हुए कहा कि, उन्हें इस तरह की टिप्पणियां करने से बचना चाहिए। पद्म भूषण और पद्म श्री से सम्मानित ज्येष्ठ वैज्ञानिक बिकाश सिन्हा ने धनकड़ के इस बयान को पागलपन बताया।

सिन्हा ने कहा, “जब कोई ऐसे बयान करता है तो हमे बुरा लगता है। कल आकर कोई यह भी कह सकता है कि, श्रीकृष्ण के सुदर्शन चक्र में हायड्रोजन बम था। धनकड़ एक राज्य के राज्यपाल है। वे जिम्मेदार व्यक्ति है, उन्हें ऐसे बेतुके बयान नही करने चाहिए।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here